होली पर निबंध (महत्व विचार शायरी पूजा विधि तिथि): Essay on Holi in Hindi pdf

क्या आप होली 2019 पर निबंध लिखना चाहता है? क्या आप होली की महत्व के बारे में जानते हैं?

आइए जानते हैं होली त्यौहार कब है, होली कब मनाई जाती है, 2019 में होली कब है, होली की तैयारी कैसे करते हैं, होली मनाने के कारण  और होली की पूजा विधि को विस्तार से|

हमारे देश भारत त्यौहारों की देश है| यहाँ हर दिन एक त्यौहार है| भारतवर्ष में कई त्यौहार मनाई जाती है जैसे की दिवाली, दशहरा, ईद, पोंगल, महाशिवरात्रि, मकर संक्रांति आदि|

इन त्यौहारों में होली त्योहार भी एक लोकप्रिय त्यौहार है जिसे ‘रंगों का त्योहार’ भी कहा जाता है|

होली त्यौहार हर किसी के लिए एक उत्साह भरा त्यौहार है| इस दिन सभी लोग रंगों के साथ खेलते हैं| रंगों की ये खेल में भंग और नाच गीत की मज़ा भी लिया जाता है|

होली पर निबंध

जानिए होली त्योहार क्या है? What is Holi Festival?

होली त्यौहार रंगों की त्योहार है जो दुश्मनों को भी दोस्त बना देता है| इस दिन हर कोई अपनी ग़म भुला कर खुसी और उत्साह के साथ एक दुसरे के गले लगते हैं और रंगों के साथ खेलते हैं| कहते हैं की होली त्यौहार पुरानी दुश्मनी और ग़म भुला कर नए रिश्ते बनाती है| इसे हर धर्म के लोग बड़े ही उत्साह के साथ मनाते हैं| अपनों के साथ दिल की खुसी बांटते हैं| रिश्तों में सुधार लाने में इस त्यौहार का अहम् भूमिका माना जाता है|

होली एक महत्वपूर्ण भारतीय और नेपाली त्योहार है| ये त्यौहार पुरे देश मे बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है|

आइए होली की निबंध पढने से पहले होली की इस लोकप्रिय गाने की मज़ा लेते हैं| ये गाना बॉलीवुड की सबसे लोकप्रिय गीत है|

होली पर निबंध: Essay on Holi in Hindi:

होली त्यौहार हम सब के लिए साल की सबसे यादगार त्योहार होता है| इस दिन सब एक दुसरे के चेहरे पर गुलाल लगा कर अपनी ख़ुशी और प्रेम को जाहिर करते हैं| होली त्यौहार बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक हर कोई बड़े ही ख़ुशी के साथ मनाते हैं| ये त्यौहार एक लोकप्रिय त्योहार है| इस दिन कोई किसी का दुश्मन नहीं होता| खट्टे रिश्तों में होली की त्यौहार मिठास भर देता है| ये त्यौहार हर धर्म, हर वर्ग और हर उम्र के लोग मानते हैं|

यह भी पढ़ें ››  कल्पना चावला की जीवनी (Kalpana Chawala Life History, biography, Essay in Hindi)

होली कब मनाई जाती है? When is Holi Festival Celebrated?

होली हिन्दू वर्ष के फागुन के महीने में मनाई जाती है| होली फाल्गुन महीने की पूर्णिमा को मनाई जाती है| हर साल होली लगभग मार्च के महीने में ही होती है| घरों में बसंत पंचमी की आरम्भ से ही होली की तैयारी देखने को मिलती है|

साल 2019 में होली 20 MARCH 2019 पर है|

होली दो दिन की वसंत पर्व है| इस त्यौहार की पहली दिन को ‘छोटी’ कहा जाता है| इस दिन होली का जलाई जाती है| इसिलए इस दिन को ‘होलिका दहन‘ भी कहा जाता है|

होली की दूसरी दिन को ‘धुलेती’ या ‘रंगवाली होली’ भी कहा जाता है| इस दिन लोग एक दुसरे पर रंग, अबीर-गुलाल लगाते हैं |

होली की महत्व क्या है: Importance of Holi:

होली की महत्व ये है की ये त्यौहार दुश्मनों को भी दोस्त बना देती है| रिश्तों में सुधार लाना मानो इस त्यौहार की मूल मकसद है|

होली के दिन हर कोई सारि गिले शिक्वे भुला कर रंगों के रंग में रंगते और रंगाते हैं| ये दिन ख़ुशी की त्यौहार है| होली के दिन हर कोई उत्साह से भरा होता है|

होली खुशियों की त्यौहार है| इस दिन लोग एक दुसरे के घरों में जाते हैं और रंगों के साथ खेलते हैं| दूरी के कारण बिछड़े हुए दोस्त भी इस बहाने फिर से मिल जाते हैं| ये त्यौहार हर उम्र के लोगों में बड़े ही उत्साह से मनाई जाती है|

होली की महत्व ये भी है की इस दिन हर कोई अपने नाराजगी, ग़म और नफरत को भुला कर एक दुसरे के साथ एक नई रिश्ता बनाते हैं|

होली के दिन हर कोई गुलाल के साथ खेलते हैं| इस दिन जात, विरादरी और हैसियत जैसी दक्कियानुसी सोच को भुला कर सब मित्र और प्रेम के रिश्ते में बंध जाते हैं| ये त्यौहार जातिवाद, रंग, पंथ जैसे सामाजिक बुराई को मिटा कर भस्म कर देती है|

होली लोगों में  सकारात्मक सोच लाती है| एक बेहतर समाज की गठन में होली की अहम् किरदार है|

होली के अवसर पर किसानों की खेत की फसल पाक जाती है| लहलहाते फसल को देख कर किसानों में खुशी का माहौल बन जाता है| होली की आग में किसान अपने खेती के पहले अनाज की कुछ दानों को होली की आग में समर्पित करते हैं और इसी अनाज को सब बांटते हैं और अपनी अपनी खुशी एक दुसरे को जाहिर करते हैं|

होली त्यौहार अपने साथ कई सन्देश लाता है| ये त्यौहार हमें भेद भाव और नफरत जैसी बुराईयों से दूर रहने की सलाह देती है| ये त्यौहार मिलन और दोस्ती की माहौल बना कर हर किसी के दिल में खुशियाँ भर देती है|

यह भी पढ़ें ››  दहेज प्रथा पर निबंध व भाषण Hindi में (Essay on Dowry System in Hindi)

होली की कथा: Story on Holi Festival:

होली त्यौहार पर कई पौराणिक कथाएं जुडी हैं|

इनमे से सबसे प्रसीद्ध कहानी है प्रहलाद की| कहानी के अनुसार, प्राचीन काल में हिरण्यकशुप नाम के एक असूर था| उसे अपने बल पर काफी गर्व था| वह अपने आप को भगवान् मानता था| उसने अपने राज्य में भगवान के नाम लेने पर भी पाबंदी लगा दी थी|  हिरण्यकशुप की एक बेटा था जिसका नाम था प्रहलाद| प्रहलाद धार्मिक स्वभाव का था| वह हिरण्यकशुप को भगवान् नहीं मानता था| ये बात हिरण्यकशुप को हजम नहीं हुआ|

प्रहलाद से नाराज हो कर हिरण्यकशुप ने उसे मारने की सोची| लेकिन उसकी सारि कोशिशें विफल रही| तभी हिरण्यकशुप को अपनी बहन होलिका की याद आई| होलिका को आग में न जलने का वरदान मिला था| हिरण्यकशुप के निर्णय अनुसार होलिका प्रहलाद को अपने गोद में बिठा कर आग के ढेर में बैठ गई| लेकिन प्रसिद्द कहावत ” जाको राखे साईँ, मार सके न कोय” यहाँ सच साबित हुआ| भगवान् की कृपा से होलिका आग में जल गई और प्रहलाद बच गया|

ये कहानी हमें ये सिख देती है की बुराई पर अच्छाई की जीत अवस्य होती है|

होली कैसे मनाई जाती है: How to celebrate holi?

होली फाल्गुन महीने के पूर्णिमा को मनाई जाती है| होली पर्व दो दिनों की त्यौहार होती है| होली पर्व की पहले दिन होलिका जली जाती है| इस त्यौहार की दुसरे दिन गुलाल की रंगीन खेल खेला जाता है|

होली त्यौहार की परम्पराएं अत्यंत प्राचीन हैं|

आइए जानते हैं होली कैसे मनाएं| होली पूजा की विधि

होली की दिन झंडा या कोई बड़ी डंडा गाड़ा जाता है| इस झंडे को किसी सार्वजनिक जगह पर गाड़ा जाता है| इस डंडे को पूजा कर होली की मुहूर्त के समय इस डंडे को निकाल कर इसके चारों तरफ लकडियाँ और उपले इकट्ठे किये जाते हैं|

हिन्दू धर्म की विधि में पूजा के बाद इन लकड़ियों पर आग लगाई जाती है| इसे होलिका की दहन के प्रतीक किया जाता है| इस आग में किसान अपने खेत के पहले अनाज को कुछ दानें सेकते हैं और इसको सब में बांटते हैं| इसी से मिलन और भाईचारा की प्रेम जागता है|

अगले दिन होली की दूसरी तिथि होती है जिसे हम ‘धुलेती’ भी कहते हैं| इस दिन हर उम्र के लोग रंगों की खेल खेलते हैं| इस दिन हर कोई अपनी पुरानी नाराजगी को भुला कर एक नई शुरुवात करते हैं| कहते हैं की होली के दिन दुश्मन भी दोस्त बन जाते हैं|

होली की त्यौहार मनाने के लिए इस दिन स्कूल, कॉलेज और दफ्तरों में सरकारी छुट्टी भी होती है| बच्चे ज्यादातर इस दिन गुलाल की खेल के मज़ा लेते हैं| लोग एक दुसरे के चेहरे में गुलाल लगाते हैं और रंगों की पिचकारी भी खेलते हैं|

यह भी पढ़ें ››  टॉप 10 बेस्ट ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स भारत में in Hindi: (Top 10 Best Online Shopping Sites In India In Hindi)

इस दिन घरों में उत्साह और ख़ुशी की माहौल होती है| हर कोई हर भेदभाव से मुक्त होली खेलते हैं| ये दिन साल की यादगार पर्व बन जाती है|

होली की त्यौहार कहाँ कहाँ मनाई जाती है:  Places Famous for Holi

होली पूरे भारत में मनाई जाती है| ये त्यौहार विदेशों के भी कुछ जगह में मनाई जाती है जहां हिन्दू या भारत के लोग रहते हों| भारत में ब्रज की लठमार होली काफी लोकप्रिय है| यहाँ पुरुष महिलाओं के ऊपर रंग डालते हैं और फिर महिलाएं उन्हें लाठी व कपडे से बनाये गए कोड़े से मारती हैं|

मथुरा और बृन्दावन में होली करीब 25 दिनों तक मनाई जाती है|  महाराष्ट्र में रंग पंचमी के दिन सुखा गुलाल खेलने की परंपरा है|

होली पुरे देश में हर जगह मनाई जाती है| ये त्यौहार जातिवाद और भेदभाव को मात दे ख़ुशी और मित्रता की आगमन करने वाली लोकप्रिय त्यौहार है|

2019 में होली कब है? When is Holi in 2019?

जैसे की हमने आपको बताया था की होली पर्व दो दिन तक मनाई जाती है| 2019 में होली त्यौहार 20 मार्च से आरम्भ कर 21 मार्च शाम तक है|

होली पर गीत व कविताएँ: Songs on Holi

होली की त्यौहार पर कई गाने और शायरी व कविताएँ लिखी गई हैं| होली की महत्व इन गानों और शायरी खूब दर्शाते हैं| कई बॉलीवुड फिल्मों में भी होली की झलक हमें देखने को मिल रहा है|

निचे हमने कुछ बॉलीवुड फिल्मों के नाम दिए हैं जिन पर होली की त्यौहार को मनाते देखा गया है:

“भागबान” फिल्म की ‘होली खेले रघुवीरा’ गाना आज भी काफी लोकप्रिय है|

 

‘नदिया के पार’ फिल्म की ‘जोगिजी हाँ’ गाना होली की एक चर्चित गाना है|

 

‘कटी पतंग’ फिल्म की ‘आज न छोड़ेंगे’ गाना आज भी काफी मशहूर है|

‘बजरंगी भाईजान’ की ‘ सेल्फी ले ले रे’ गाना काफी यादगार है|

 

होली पर विचार:

होली त्यौहार हिन्दू धर्म की एक लोकप्रिय पर्व है| लेकिन इस पर्व की हर धर्म में स्वागत किया जाता है| होली की त्यौहार असत्य पर सत्य की, अधर्म पर धर्म की, नास्तिकता पर आस्तिकता की विजय की घोषणा है| होली के दिन हर कोई अपनी जात या धर्म को भूल रंगों की खेल में मस्त रहता है| इस दिन रंगों और गुलाल की खेल होती है| भंग और मदारी होली खेल को पूरा करती है|

होली की त्यौहार हमें काफी कुछ सिखाती है| होली की त्यौहार हमें जातिवाद, हैसियत, विरादरी, आदि कुविचारों से मुक्त रहना सिखाती है| होली के दिन दुश्मन भी दोस्त बन जाते हैं| हमें अपने समाज में होली की शन्देश और मित्रता की शिक्षा कुछ कहती है| हमें लोगों के साथ मिलकर दोस्ती और भाईचारा का रिश्ता बनाना चाहिए|

तो आइए होली की शंदेस को हम अपने समाज में फैलाएं| हमें खुद इस शन्देश का चेहरा बनना होगा|

अगर आप के मन में होली त्यौहार के बारे में कोई तथ्य है, तो हमें निचे कमेंट बॉक्स पे बताएँ|  हमें ये बताएं की होली की भाईचारा और मित्रता की शिक्षा कैसे अपने समाज की नीव बनाएं और एक बेहतर समाज की गठन करें|

धन्यवाद !!

4 thoughts on “होली पर निबंध (महत्व विचार शायरी पूजा विधि तिथि): Essay on Holi in Hindi pdf”

Leave a Comment